रक्षाबंधन 

परिवार में खुशहाली लाता
बारिश सी बौछार बनकर,
भाई की लम्बी उम्र की खातिर
वचन रक्षा का पर्व पवित्र है!
रक्षाबंधन है पर्व स्नेह का
एहसास-ए-मसर्रत होता जिससे,
रेशम के धागों में बंधकर
दिखता जिसमें भाई-बहन का प्यार!
धुरी बनकर बांधकर रखता
रक्षा धर्म का पालन करना,
भावना मन में जागृत करता
कच्चे धागों में प्रीत का बंधन!
तपस्या पर्व राखी का
बरकत मिलती है इसकी कद्र में,
भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक
बंधन निर्मल दिलों का है रिश्ता!

-मुनीष भाटिया
कुरुक्षेत्र

अन्य समाचार